Video: जीत के बाद ‘धोनी-धोनी’ से गूंज उठा स्टेडियम, इमोशनल होकर गर्व से तिरंगा लहरा रहे थे फैंस

New Delhi : इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की 87 रनों की नाबाद पारी की बदौलत भारतय टीम ने कंगारुओं की धरती पर ऐतिहासिक जीत दर्ज की। बता दें कि जैसे ही माही ने जीत दिलाई, वैसे ही पूरा स्टेडियम खड़े हो कर माही के लिए तालियां बजा रहा था और धोनी-धोनी कह कर नारे लगा रहे थे। साथ ही गर्व से तिरंगा लहरा रहे थे।

भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रवि शास्त्री टीम इंडिया की वनडे सीरीज जीतने से बेहद खुश दिखे। वनडे सीरीज की जीत में महेंद्र सिंह धोनी का सबसे बड़ा योगदान था। उन्होंने माही के बारे में कई अच्छी बाते कहीं। उन्होंने ये तक कहा कि तेंदुलकर जैसा खिलाड़ी मैदान में गुस्सा कर जाता था लेकिन ये इंसान (धोनी) कभी नहीं।

37 वर्षीय धोनी के लिए रवि शास्त्री ने ये भी कहा कि माही जैसे खिलाड़ी 30-40 सालों में एक बार पैदा होते हैं। रवि शास्त्री ने कहा- धोनी एक लेजेंड हैं। वो हमारे दिग्गज क्रिकेटर्स में से एक हैं। मैंने आज तक किसी क्रिकेटर को इतना शांत नहीं देखा। सचिन तक कभी कभी गुस्सा कर जाते थे लेकिन माही कभी नहीं। माही का कैलिबर किसी से भी कंपेयर नहीं कर सकते। उन जैसे खिलाड़ी 30-40 सालों में एक बार पैदा होते हैं। जब तक माही हैं, उनके खेल को एंजॉय करें। जब वो चले जाएंगे तो उनकी जगह कोई नहीं ले सकेगा।

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के वनडे सीरीज के तीसरे और आखिरी वनडे मैच में भारत ने महेंद्र सिंह धोनी की वजह से मैच 7 विकेट से जीत लिया। इसी तरह भारत ने 2-1 से सीरीज पर भी कब्जा कर लिया था। मालूम हो कि इस सीरीज के जो 2 मैच भारत ने जीते हैं उसे जीतने में माही का सबसे बड़ा हाथ था। माही मैन ऑफ द सरीजी बने। मेलबर्न में मैन ऑफ द मैच 6 विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल को मिला था। और एडिलेड में शतक जड़ने वाले कोहली मैन ऑफ द मैच बने थे।