IPL 2019: फिर खड़ा हुआ एक नया विवाद, दिग्गजों ने दी नियम बदलने की सलाह

Quaint media
New Delhi: IPL 2019 में पिछले सालों मुकाबलों दौरान कुछ ज्यादा ही विवाद देखने को मिल रहे हैं। पहले अश्विन और जोस बटलर का मांकडिंग विवाद सुर्खियों में रहा तो अब स्टंप पर गेंद लगने के बावजूद बेल्स ना गिरने पर बल्लेबाज के नॉटआउट रहने पर बहस हो रही है।

दरअसल, चेन्नई और पंजाब के बीच खेले गए मुकाबले में केएल राहुल की बल्लेबाजी के दौरान महेंद्र सिंह धोनी के थ्रो पर स्टंप से गेंद लगने के बाद भी वह बच गए। नियम के मुताबिक जब तक बेल्स नहीं गिरती तब तक बल्लेबाज आउट नहीं माना जाता।

शनिवार को खेले गए इस मुकाबले में पंजाब की पारी के दौरान रविंद्र जडेजा 13वां ओवर फेंक रहे थे। तभी ओवर की चौथी गेंद पर राहुल आउट होने से बाल-बाल बचे। धोनी ने गेंद थ्रो की गेंद स्टंप से टकराई और LED लाइट भी जली, लेकिन विकेट बेल्स टस से मस ना हुईं। और रहहुल को जीवनदान मिल गया।

इससे पहले सीजन के 12वें भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला। यह मैच चेन्नई और राजस्थान के बीच खेला जा रहा था और बल्लेबाजी पर धोनी थे। थ्रो जोफ्रा आर्चर ने किया था। इसके बाद तीसरा बार यही घटना रविवार को कोलकाता और राजस्थान के मैच के दौरान भी घटी।

कोलकाता की बल्लेबाजी के दौरान पारी का तीसरा ओवर धवल कुलकर्णी करा रहे थे। तभी ओवर की पहली ही गेंद क्रिस लिन के बल्ले से इंसाइड एज टकराई और विकेट को छूती हुई सीमा रेखा के पार चली गई। धवल विकेट का जश्न मनाने लगे लेकिन वो भूल गए कि LED जलने के साथ बेल्स भी गिरनी जरूरी है।

इस कड़ी में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने नियमों में बदलाव की सलाह दी है। पूर्व इंग्लिश कप्तान ने स्टंप्स लाइट जलने के बावजूद बल्लेबाज को आउट ना दिए जाने के नियम पर सुझाव दिया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, अगर थ्रो लगने के बाद लाइट जलती है लेकिन गिल्लियां नहीं गिरती तो भी बल्लेबाज को आउट दिया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *