24 साल के करियर में सचिन तेंदुलकर ने बनाए थे पहाड़ जैसे रिकॉर्ड्स, जिन्हें तोड़ पाना है मुश्किल

Quaint Media, Live India, Live Bihar, Live News
New Delhi: भारत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने साल 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों को अलविदा कह दिया था। सचिन के इस रिटायरमेंट को लेकर देश-विदेश में खूब चर्चाएं हुईं।

सचिन ने अपना अंतिम टेस्ट मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था और अंतिम पारी में वह अर्धशतक बनाकर आउट हुए थे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने अपना अंतिम वनडे मैच कब और किस टीम के खिलाफ खेला था। आपको यह जानकर खुशी होगी कि टेस्ट मैच की अंतिम पारी की तरह ही सचिन ने वनडे की अंतिम पारी में भी अर्धशतक लगाया था।

सचिन ने अपना अंतिम एकदिवसीय मैच एशिया कप 2012 के दौरान ढाका में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था। दिलचस्प बात यह है कि सचिन ने डेब्यू भी 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ किया था। हालांकि सचिन अपने पहले वनडे मैच में शून्य पर आउट हो गए थे, लेकिन अपने अंतिम वनडे मैच में उन्होंने विपक्षी गेंदबाजों की जमकर बखिया उधेड़ी थी।

18 मार्च, 2012 को खेले गए इस मैच में पाकिस्तान टीम ने मिस्बाह उल हक की अगुआई में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी पाकिस्तान टीम के दोनों सलामी बल्लेबाजों मोहम्मद हफीज और नासिर जमशेद ने टीम को धुआंधार शुरुआत दी और दोनों ने शतक जमाते हुए भारत के सामने 329 रनों का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा किया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने शुरुआत में ही गौतम गंभीर का विकेट गंवा दिया और अब लग रहा था कि भारत शायद ही पाकिस्तान के खतरनाक गेंदबाजों को जवाब दे पाए, लेकिन दूसरे छोर पर बल्लेबाजी कर रहे सचिन तेंदुलकर ने एक बार फिर से अपने आतिशी तेवर दिखाए और पाकिस्तानी गेंदबाजी को नेस्तनाबूत कर दिया। सचिन ने इस दौरान तेज गेंदबाज एजाज चीमा की गेंद पर कीपर के सिर के ऊपर से खूबसूरत अपरकट लगाया जो सीमा रेखा के पार 6 रनों के लिए गया।

सचिन ने अपना अर्धशतक पारी के 17वें ओवर में 45 गेंदों में पूरा किया। अर्धशतक लगाने के कुछ देर बाद सचिन सईद अजमल की गेंद पर 52 रन बनाकर आउट हुए। सचिन ने अपनी अंतिम वनडे पारी में 5 चौके व एक छक्का लगाया। विराट कोहली के 183 रनों की बदौलत भारत ने यह मैच 6 विकटों से जीत लिया। सचिन ने अपने अंतिम वनडे मैच में जिस तरह से क्रिकेट प्रेमियों को इंटरटेन किया वह आज भी क्रिकेटप्रेमियों के जेहन में घूमता है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

18 दिसंबर 1989 को खेला पहला वनडे मैच

1989 में पाक दौरे के दौरान ने ही सचिन ने वनडे इंटरनेशनल में भी डेब्यू किया। उन्होंने अपना पहला वनडे 18 दिसबंर 1989 को खेला था। सचिन ने इंडियन ड्रेसिंग रूम में 24 साल वक्त बिताया। इनसे ज्यादा विश्व के किसी भी खिलाड़ी ने वनडे मैच नहीं खेला है।

महाशतक

लंबे इंतजार के बाद 16 मार्च 2012 का दिन फैन के लिए खुशियां लेकर आया। करीब 34 पारियों के बाद मास्टर ब्लास्टर ने बांग्लादेश के खिलाफ शतकों का शतक लगाया और इतिहास के पन्ने में अपना नाम दर्ज कराया। सचिन शतकों का शतक लगाने वाले विश्व के पहले खिलाड़ी हैं। इसके बाद ही सचिन ने वनडे से संन्‍यास लेने का फैसला कर लिया। सबसे अधिक शतक लगाने का रिकॉर्ड अभी भी सचिन के नाम पर कायम है।

सबसे ज्यादा शतक

टेस्ट मैच में सबसे अधिक शतक बनाने का रिकॉर्ड सचिन के ही नाम पर है। टेस्ट में इनके नाम पर 51 शतक हैं। वनडे में सबसे अधिक शतक बनाने का रिकॉर्ड भी सचिन के नाम पर ही है। इन्होंने वनडे में 49 शतक लगाए हैं। इनके बाद रिकी पोंटिग का नंबर है। पोंटिंग के नाम पर 30 शतक है। पोंटिंग पर 19 शतक का लीड का है। विराट धीरे-धीरे इस रिकॉर्ड की तरफ बढ़ रहे हैं।

सबसे ज्यादा रन

सचिन ने कुल 463 वनडे मैच खेले हैं। उन्होंने कई यादगार पारियां खेली है, जो उनके फैन आज भी याद करते हैं। सचिन ने वनडे में 18,426 रन बनाए हैं। इन सबके बाद अब नंबर आता है सबसे अधिक रन का। टेस्ट में सचिन ने 15,921 रन बनाए हैं। इनके बाद रिकी पोंटिंग का नंबर आता है लेकिन वे सचिन से 2000 रन पीछे हैं। सचिन का टेस्ट में बेस्ट स्कोर 248* है। 200 टेस्ट, 463 वनडे और 1 टी20 मैच।

इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने का भी रिकॉर्ड सचिन रमेश तेंदुलकर के ही नाम पर दर्ज है। 24 सालों के क्रिकेट करियर के दौरान 34,357 रन बनाकर सचिन तेंदुलकर ने कई यादें अपने करियर के पीछे छोड़ी है।

कुछ अन्य खास बातें

1: सचिन तेंदुलकर 1998 में बेहतरीन फॉर्म में थे। उन्होंने एक कैलेंडर साल में 9 वनडे शतक लगाए थे।

2: सचिन ने अपना पहला वनडे शतक 1994 में अपने 79वें मैच में कोलंबो में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया।

3: 2001 में वनडे में दस हजार रन बनाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज बने।

4: सचिन ने 2002 में पोर्ट आफ स्पेन में वेस्टइंडीज के खिलाफ 117 बनाकर सर डॉन ब्रेडमैन के 29 टेस्ट शतक की बराबरी की फिर इंग्लैंड के खिलाफ 193 बनाकर ब्रेडमैन के रिकॉर्ड को पार किया।

5: 2004 में सुनील गावस्कर के 34 शतक के रिकॉर्ड की बराबरी करने वाले विश्व के पहले खिलाड़ी बने। साथ ही इसी साल 50 मैन ऑफ द मैच हासिल करने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने।

6: 2008 में वनडे मैचों में 16 हजार रन बनाने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने। इसी साल टेस्ट क्रिकेट में ब्रायन लारा के 11,953 रन के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया।

7: 2011 विश्व कप में बांग्लादेश के खिलाफ पहला मैच खेलने के साथ ही वह सबसे ज्यादा वनडे खेलने वाले खिलाड़ी बने और सनथ जयसूर्या के 444 मैचों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा।

8: सचिन तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कुल 201 विकेट हासिल किए हैं। जिसमें टेस्ट में 46, वनडे में 154 और ट्वंटी-20 में एक विकेट हासिल किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *