टेस्‍ट क्रिकेट में कुछ ऐसा रहा लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर का करियर, जानें इंटरेस्टिंग फैक्ट्स

New Delhi: 17 मार्च का दिन टीम इंडिया के लिटिल मास्टर सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) के लिए बेहद ही खास दिन है। दरअसल साल 1987 में आज ही के दिन सुनील गावस्कर ने टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कहा था। इस मौके पर आज हम आपको गावस्कर के कुछ खास टेस्ट रिकॉर्ड्स से रूबरू करा रहे हैं।

सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) को सबसे अधिक टेस्ट रनों और टेस्ट शतकों का रिकॉर्ड कायम करने के लिए जाना जाता है। क्रिकेट इतिहास के सबसे महान खिलाड़ियों में से एक गावस्‍कर ऐसे पहले बल्लेबाज हैं, जिन्‍होंने टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रन बनाए। साथ ही उन्‍होंने 34 सेंचुरी भी बनाई।

एक बेहतर ओपनर गावस्‍कर की तेज गेंदबाजों के खिलाफ तकनीक हमेशा कमाल की रही। सिर्फ यही नहीं, गावस्कर ऐसे पहले भारतीय खिलाड़ी हैं, जिनके नाम 100 से अधिक कैच (विकेटकीपिंग को छोड़कर) पकड़ने का रिकॉर्ड है। गावस्कर 1983 में वर्ल्डकप जीतने वाली भारतीय टीम के सदस्य थे। भारत सरकार द्वारा गावस्कर को पद्मश्री और पद्मभूषण से सम्‍मानित भी किया जा चुका है।

‘स्कूलबॉय क्रिकेटर ऑफ द ईयर’

सुनील गावस्‍कर 1966 में भारत के सबसे अच्छे ‘स्कूलबॉय क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ बने। मुंबई के प्रसिद्ध सेंट जेवियर्स कॉलेज के छात्र रह चुके सुनील गावस्कर ने साल 1968-69 में कर्नाटक के खिलाफ मैच खेले, लेकिन उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा और उनके सिलेक्शन पर ही सवाल उठ गए। दरअसल, सिलेक्शन टीम में उनके अंकल माधव मंत्री शामिल थे और सुनील गावस्कर का सिलेक्शन इसी का नतीजा माना गया। सुनील गावस्कर ने अपने क्रिकेट कैरियर की शुरुआत 1971 में वेस्टइंडीज के खिलाफ की थी।

एक अनोखा रिकॉर्ड भी

सुनील गावस्‍कर के क्रिकेट कैरियर का एक अनोखा रिकॉर्ड यह भी है कि उन्‍होंने टेस्ट क्रिकेट में तो 34 शतक जड़े, लेकिन एकदिवसीय मैच में मात्र एक शतक न्यूजीलैंड के खिलाफ बनाया था। जिस मैच में गावस्कर ने यह शतक जड़ा था, वह काफी खास हो गया था, क्‍योंकि इस मैच में उन्‍हें 102 डिग्री बुखार था, इसके बावजूद उन्होंने शतक जड़ दिया था। उनकी यह पारी काफी चर्चित रही।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

3 बार किसी टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जमाया

सुनील गावस्कर तीन बार किसी टेस्ट मैच की दोनों पारियों में शतक जमाने वाले ऐसे पहले क्रिकेटर थे, लेकिन इनमें से एक भी मैच में भारत जीत हासिल नहीं कर सका। गावस्कर के नाम बड़ा रिकॉर्ड यह है कि वह ऐसे पहले बैट्समैन हैं, जिन्‍होंने टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रन बनाए। उनका वेस्टइंडीज के खिलाफ 65.45 का औसत है, जिसकी तेज गेंदबाजी उस दौर में जबरदस्त थी।

एक सीरीज में सबसे ज्यादा रन

सुनील गावस्कर एक सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में आज भी पहले भारतीय बल्लेबाज हैं, जिन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट सीरीज में 1970-71 विंडीज़ दौरे पर 111.28 की औसत से 774 रन बनाए थे। इस दौरान 194 उनका उच्चतम स्कोर रहा था।

किसी एक टीम के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक

किसी भी एक टीम के खिलाफ शतक लगाने के मामले में गावस्कर भारत के पहले और दुनिया के दूसरे बल्लेबाज हैं। आपको जानकार हैरानी होगी कि गावस्कर ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 13 टेस्ट शतक जड़े हैं और यह कारनामा करने वाले वह पहले भारतीय हैं। वहीं डॉन ब्रेडमैन इस मामले में दुनिया के पहले खिलाड़ी हैं, जिन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ 19 शतक जड़े हैं।

29 साल बाद टूटा गावस्कर का रिकॉर्ड

आपको शायद ही पता हो कि गावस्कर का रिकॉर्ड ऐसा भी है, जिसे तोड़ने में लगभग 29 साल का समय लग गया। जी हाँ, एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर गावस्कर ने 33 शतक की बदौलत 9607 रन बनाए हैं। 2016 तक यह रिकॉर्ड सुनील गावस्कर के नाम था, लेकिन 2016 में इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज एलिस्टेयर कुक ने 9630 रन बनाते हुए यह रिकॉर्ड अपने नाम किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *