5 साल से विदेशी दौरे पर कप्तान कोहली बना रहे रन, बाकी धुरंधर लाचार

New Delhi: भारतीय क्रिकेट टीम की बल्लेबाजी सवालों के घेरे में है। बर्मिंघम टेस्ट में टीम के धुरंधर बल्लेबाज दो दिन का समय होने के बाद 194 रन का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाए। कप्तान विराट कोहली ने अकेले इंग्लैंड के खिलाफ दोनों पारियों में संघर्ष करते नजर आए।

वैसे यह पहला मौका नहीं जब विराट कोहली को टीम इंडिया के बाकी धुरंधर बल्लेबाजों ने इस तरह से बीच मैदान में अकेले छोड़ा हो। पिछले पांच साल में टीम इंडिया के एशिया के बाहर विदेशी दौरे पर नजर डाले तो कोहली की ही पारी नजर आएगी।

कोहली पिछले पांच सालों से विदेशी दौरे पर अकेले ही जूझते रहें हैं। उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे ने भी थोड़ा साथ दिया है। पांच सालों में अगर आंकड़ों को देखे तो विराट कोहली ने जहां 55 की औसत से रन बनाए हैं तो रहाणे को छोड़ कोई 40 तक भी नहीं पहुंच पाया।

कोहली ने पिछले 5 सालों में 21 टेस्ट मैच खेलते हुए भारत के लिए सबसे ज्यादा 2049 रन बनाए हैं। उनके बाद टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे का नाम आता है, जिन्होंने 19 मैचों में 1386 रन अपने खाते में जोड़े। मुरली विजय ने भी 19 मैच खेले हैं लेकिन रनों के मामले में रहाणे से पीछे हैं। उनके नाम 1215 रन दर्ज है।

वहीं, टीम इंडिया के गब्बर शिखर धवन ने बीते 5 सालों में 15 मैच खेलकर 789 रन बनाए हैं। इसके अलावा टेस्ट के ओपनर चेतेश्वर पुजारा 5वें नंबर पर हैं। उन्होंने 18 मैच खेलते हुए 925 रन बनाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *